कोई कार्य असंभव नहीं

 

मधु अरोड़ा

ईश्वर ने मनुष्य को पूर्ण बनाया । उसने उच्च कोटि का दिमाग भी दिया है ।आज मानव ने अपने लिए सब सुख सुविधाएं इकट्टी कर ली है। ग्रहों पर जाने की उड़ान सफल हुई सच में मानव सब कुछ कर सकता है। वह अपने लक्ष्य को पाने के लिए एड़ी चोटी का जोर लगा सकता है।

जैसे एक बीज के अंदर विशाल वृक्ष छुपा हुआ है ।परंतु यह तभी संभव है। जब हम उस बीज को बोए ,और उसके अंकुर की पूरी देखभाल करें ,कोई भी काम अपने आप नहीं होता। उसके लिए कोई कारण तथा आधार होता है। तथा ऐसेकार्य से बचना चाहिए। जो दूसरों को हानि पहुंचाए गलत कार्य के लिए हमारी आत्मा हमें दिखारती है।अपनी आत्मा की आवाज अवश्य सुने।

अपनी आपको आत्मा कीआवाज सुनने की योग्यता अवश्य प्रदान करें।

   पूरा प्रयास करने के बाद यदि सफलता नहीं मिली तो कोई बात नहीं ।क्या कमी हमारे प्रयास में रह गई इस पर विचार करें ।और उस कमी को दूर करने का प्रयास करें। ईमानदारी से प्रयत्न करते रहे ।एक दिन अवश्य सफलता प्राप्त होगी। जंगली जानवर भी प्रेम से मनुष्य का गुलाम हो जाता है। तो मैं आपसे कहना चाहूंगी ।अपने क्रोध को शांत रखते हुए ,हड़बड़ाहट या जल्दी बाजी में कोई काम ना करें।

   प्रेम से किया गया काम आपके लिए अधिक रुचिकर होगा ।प्रेम और लगन से काम को निमटाने की कोशिश करें।

   प्रेम और लगन से काम करने से आपका मानसिक संतुलन सही रहेगा।

   हमें हमारे पिताजी हमेशा कहा करते थे कि काम का बदलना ही मनोरंजन है जो भी काम करो पूरी लगन और निष्ठा के साथ करो। हर काम को करने के लिए संयम की जरूरत है ।आपकी जरा सी भी कमजोरी से काम  खराब हो सकता है किसी भी काम को पूरा करने के बाद आप उसको चर्चा का विषय ना बनाएं ।उसका ढिंढोरा ना पीटे।

    कि मैंने यह किया है मैं यह कर सकता हूं दुनिया क्या कहती है उसकी परवाह ना करें।

   किसी के बहकावे में आने से बचें अपने काम पर एकाग्रता रखें व्यर्थ समय ना गवाएं ।अगर कोई  आपको अच्छी सलाह देता है। तो उसे तुरंत ग्रहण कर ले कोई बात नहीं अगर आपसे कोई काम सही नहीं हुआ। आप निराश ना हो आपके अंदर  ईश्वरीय शक्ति है जिससे आप सब कुछ बदल सकते हैं ।दृढ़ संकल्प शक्ति ईश्वर ने सिर्फ मनुष्य को ही दी है 

   अपनी-अपनी संकल्प शक्ति का उपयोग करें। ईश्वर से प्रार्थना करें ।कि वह आपको सोई हुई शक्तियों को जगाएं।

   प्रार्थना में तो वह शक्ति है, मनुष्य आसमां से धरा पर गंगा को उतार लाएं।

बस थोड़ा प्रयास और लगन की जरूरत है मनुष्य अगर ठान ले तो वह सब कुछ हो सकता है अपनी इच्छाशक्ति को दृढ़ करो और आने वाली परिस्थितियों से ना हारो आपको 1 दिन कामयाबी अवश्य मिलेगी

   

Popular posts
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
अंजु दास गीतांजलि की ---5 ग़ज़लें
Image
सफेद दूब-
Image
नारी शक्ति का हुआ सम्मान....भाजपा जिला अध्यक्ष
Image