योग दिवस



कुमारी चंदा देवी स्वर्णकार

 हम विश्व योग दिवस मनाते 

हम ने ही इसे विश्व पर बुलाया

 हमारी सरकार हुई इसके लिए सचेत और विश्व में परचम फहराया योग

 योग व्यायाम का हमारे बुजुर्ग थे सशक्त योगाचार्य उन्होंने हमें बताया किस तरह से करना है हमें अपने shayam से 

अपना सदाचार और इंद्रियों को shayam करके

 वरना है आगे इस कोरो ना काल में आवश्यक है 

क्योंकि क्योंकि यह उपयोग जो करेगा वह 

रहेगा निरोग और योग से ही शरीर में आती है अतिरिक्त शक्ति 

योग के बिना कुछ ना होगा 

क्योंकि योग में होता है अनुलोम-विलोम ,भ्रामरी, कपाल भाती सूर्य नमस्कार व आसन और को बारंबार प्रणाम 

योगेश्वर श्रीकृष्ण ने दिया गीता का ज्ञान और योग के माध्यम से संयम से कैसे रहे 

हमारी इंद्रियां करते हैं प्रादुर्भाव


🌷🌷🌷🌷🌷

कुमारी चंदा देवी स्वर्णकार

 जबलपुर मध्य प्रदेश

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
ठाकुर  की रखैल
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
पीहू को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image