पिरितिया

विद्या शंकर विद्यार्थी 

तोरा मोरा चलल बा पिरितिया के बतिया 

पिरितिया रे, 

लोगवा भइल काहे पागल 


मोरवा के तिकेले मोरिनिया के जतिया 

तसहीं पिरितिया में तिकेले संघतिया 

रेंगनी के कटवो के तय बा रहतिया 

पिरितिया रे....। 


हथवा में हथवा धरावल तनि जाई

कबो ना जिनिगिया के हवा उधिआई 

सहल जाई दुनिया के देल का संसतिया, 

पिरितिया रे....। 


रेशम के डोरिया जिनिगिया बन्हाला 

प्रितिया के जवना में अरवन दिआला 

बदला चुकावल कबो जाला ना किमतिया 

पिरितिया रे ... ।



15/05/2021

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
डॉ.राधा वाल्मीकि को मिले तीन साहित्यिक सम्मान
Image