हां में महत्वकांक्षी हूं

 



हां मैं महत्वकांक्षी हूं

मेरी आकांक्षा से जुड़ा है मेरा हर सपना

प्रयासरत हूं अपने भविष्य के लिए हर पल 

कुछ लोगो के लिए इसलिए शायद स्वार्थी हूं ।।



हां मैं महत्वकांक्षी हूं

तिनका तिनका जोड़, अपने मनोबल का

कुछ तो करना है जो सबके लिए हो सपना

थोड़ी अलग हूं में,अलग नज़रिया है अपना।।


हां मैं महत्वकांक्षी हूं

निभा रही हूं हर भूमिका अपने जीवन की

फिर क्यों न सोचूं खुद अपनी ही लिए मैं

मेरा भी तो जीवन पर अधिकार है उतना।।


हां मैं महत्वकांक्षी हूं

अपनी ही धुन में हूं, जी रही हूं अपना सपना

लक्ष्य एक बनाया है जो उसे साधने के लिए

कर्तव्य निष्ठा के साथ हर कर्म करू मैं अपना ।।


प्रतिभा दुबेे

 (स्वतंत्र लेखिका)

ग्वालियर मध्य प्रदेश

Popular posts
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
मैं मजदूर हूँ
Image