रिश्ते

 


डाॅ. अनीता शाही सिंह 

ये रिश्ते भी कितने अजीब होते हैं 

कुछ दिल से दूर तो कुछ दिल के करीब होते हैं 

कौन-सा रिश्ता ज्यादा महत्वपूर्ण है 

दिल का रिश्ता या फिर खून का 

खून का रिश्ता तो जन्म से मिलता है 

पर दिलों के रिश्ते तो इंसान बनाते हैं 

ये दिलों के रिश्ते दिल से जुड़े होते हैं 

आत्मा की डोर से बँधे होते हैं 

कभी-कभी खून से बने रिश्तों पर 

भारी पड़ते हैं 

ज़िंदगी के इस लम्बे सफ़र में न जाने कब 

कौन-सा रिश्ता टूट जाये 

पर दर्द किस रिश्ते के टूटने पर ज्यादा होता है 

उस रिश्ते के टूटने पर क्या ग़म 

जो कभी दिल के करीब ही न था 

कुछ रिश्ते भी कितने अजीब होते हैं 

कुछ दिल से दूर तो कुछ दिल के करीब होते हैं 

कुछ दिलों के तो कुछ खून के होते हैं  ।।


डाॅ. अनीता शाही सिंह 


प्रयागराज 


Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
पुराने-फटे कपड़े से डिजाइनदार पैरदान
Image
स्वयं सहायता समूह ग्राम संगठन का गठन
Image
मधुर वचन....
Image