लाइव काव्य पाठ रुना लखनवी द्वारा

 

सरिता त्रिपाठी के फेसबुक पेज (@srtchem) से कवयित्री रुना लखनवी जी ने आज लाइव आकर इस विषम परिस्तिथि में लोगों से हौसला बनाये रखने को कहा और आग्रह किया एक दूसरे का मदद करते रहे। उनकी प्रस्तुति बहुत ही सकरात्मक रही और लोगों को स्वास्थ्य के प्रति जागरूक रहने को कहा। रुना जी की यह प्रथम लाइव प्रस्तुति थी पर उनका आत्मविश्वास कबीले तारीफ रहा। 

हम आशा करते हैं उनकी कविताएँ ऊंचाइयों को छुए जैसे उनकी लेखनी ने देशभर के अखबारों और मैगज़ीन में अपना स्थान बनाया है वैसे ही वे अपनी आवाज से लोगों को प्रभावित करती रहे। रुना जी ने कहा ईश्वर के फरिश्ते हर कोने में लोगों की मदद कर रहे हैं जो कि बिल्कुल सत्य है और आज के समय में एक दूसरे के काम आना बहुत जरूरी है। उनकी कविता- 

आपसी मतभेद छोड़ 

अभी साथ निभाने का समय है दोस्तों

अरे तर्क वितर्क में क्या रखा 

अभी कोरोना से लड़ने का समय है दोस्तों

सरिता त्रिपाठी

लखनऊ, उत्तर प्रदेश

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
सफेद दूब-
Image
स्वयं सहायता समूह ग्राम संगठन का गठन
Image
हास्य कविता
Image