हौसला


अनुपम चतुर्वेदी

हौसला रख साथी,सब अच्छा होगा।

जो देखा है सपना तुमने,सच्चा होगा।


कठिन है राह जीवन की मुसाफिर,

मंजिल पाने तक फिर भी चलना होगा।


हिम्मत से ही दुष्कर कार्य सफल होते,

फिर से करें आगाज,अपना कब्जा होगा।


मन मार-मार कर जीने से अच्छा है मरना,

क्यों जाएं हम हार? विजय का छज्जा होगा।


फूंक - फूंक कर कदम बढ़ाना अच्छा है, 

चुनौती से न करें इनकार,आगे बढ़ना होगा।


अनुपम चतुर्वेदी

सन्त कबीर नगर, उ०प्र०

© स्वरचित, सर्वाधिकार सुरक्षित

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
ठाकुर  की रखैल
Image
जीवीआईसी खुटहन के पूर्व प्रबंधक सह पूर्व जिला परिषद सदस्य का निधन
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
पीहू को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं
Image