देश मेरा जब रो रहा है

 

पूजा झा

कैसे मै ईद मनाऊं

 देश मेरा जब रो रहा है

लाल कई माओं का 

मौत की नींद सो रहा है

कैसे मैं ईद मनाऊं 

देश मेरा जब रो रहा है!!


कई के टूटे होली के सपने

कई के छूटे ईद में अपने

सपनों के पलने में फिर 

दिल भी दिलासे दे रहा है

कैसे मैं ईद मनाऊं

देश मेरा जब रो रहा है....!!


विज्ञान बना ऐसा सौदागर

मौत बांटता हर दिन हर पल

सांसों की कीमत पर इंसा

घर बार सब बेच रहा है

कैसे मैं ईद मनाऊं

देश मेरा जब रो रहा है!!


सिमट रही रिश्तों को डोरी

तन्हा वजूद पाकर कुछ थोड़ी

खुद से ही खुद की देखो

दिल भी शिकायत कर रहा है

कैसे मैं ईद मनाऊं

देश मेरा जब रो रहा है!!


# puja#

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
भगवान परशुराम की आरती
Image
पुराने-फटे कपड़े से डिजाइनदार पैरदान
Image