सच्चा रिश्ता



मुकेश गौतम

====================

जिसके बिना लगे सब सूना वही सच्चा रिश्ता है,

जिसके होने से सुख हो दूना वही सच्चा रिश्ता है।

---------------------------------------

जो खुद से पहले हमकों मानें वही सच्चा रिश्ता है,

जो मन की हर आहट जानें वही सच्चा रिश्ता है।

--------------------------------------

जो आँखों के आँसू पहचाने वही सच्चा रिश्ता है,

जो गूढ़ बात को लगें बताने वही सच्चा रिश्ता है।

-----------------------------------------

जो अपनें दुःख को लगे घटाने वही सच्चा रिश्ता है,

जो मन अपने मन को जानें वही सच्चा रिश्ता है।

------------------------------------------

जिन सांसों में एहसास हमारा वही सच्चा रिश्ता है,

जो संकट में नहीं करें अकेला वही सच्चा रिश्ता है।

----------------------------------------

जो हरदम अपना बने सहारा वही सच्चा रिश्ता है,

जिसके सामने सब कुछ हारे वही सच्चा रिश्ता है।

=======================

                          रचनाकार 

                       -मुकेश गौतम

                    ग्राम डपटा बूंदी(राज)

                       15:05:2021 

--------------------------------------------

Popular posts
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
मैं मजदूर हूँ
Image