विश्व्र तम्बाकू निषेध दिवस पर विशेष,

 


गोविन्द कुमार गुप्ता


एक चीज ऐसी है मित्रो,

खाये गरीव अमीर और डाकू,

कहते है सब बड़ी शान से उसको है तम्बाकू,

इसका कोई रेट नही 

कुछ सस्ती है कुछ महंगी,

कुछ गरीव की होती है,

कुछ होती बहुत लग्जरी,

कुछ को लोग हाँथ से मलते,

कुछ की लगाये फंकी,

कुछ तम्बाकू चिलम में और

कुछ सिगरेट में भरते,

पहले खूब चबाते उसको,

फिर करते है थूं,

कहते है सब बड़ी शान से,

उसको है तम्बाकू,।।

महिमा बहुत अपार है,

राजविलास कहलाता,

कमला पसन्द,दबंग,किशोर नाम से पुकारा जाता,

जितनी जगह है मिलता है यह 

उतने इसके नाम,

करे फेफड़े डैमेज देखो,

इसका यही है काम,

हॉस्पिटल में भर्ती लोगो

 को यूं देखूं,

कैंसर जैसी बीमारी भी लग जाती बस यूं,

कहते सब बड़ी शान से,

उसको है तम्बाकू,

छोड़ भी दो लो शपथ आज ही,

करूँ निवेदन आप से,

थोड़ी समझ दिखाओ तो बच जाओगे शाप से,

आप रहेंगे स्वस्थ और सबसे बस यही कहूँ,

 कहते है सब बड़ी शान से ,

उसको है तम्बाकू,।


गोविन्द कुमार गुप्ता,

लखीमपुर खीरी उत्तर प्रदेश

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
अभिनय की दुनिया का एक संघर्षशील अभिनेता की कहानी "
Image
स्वयं सहायता समूह ग्राम संगठन का गठन
Image
आशीष भारती एवं मिनाक्षी भारती को सौशल मीडिया के माध्यम से द्वितीय वैवाहिक वर्षगांठ की मिली शुभकामनाएं
Image