अधूरी सी

 


       डॉ मंजुसैनी

एक ख्वाब सी हूं मैं 

पर अधूरी अधूरी सी..

एक मूरत सी हूं मैं

पर बिल्कुल ही अधूरी सी...


         एक प्यारा सा रिश्ता हूं मैं

         पर बिल्कुल ही अधूरा सा...

         एक अच्छी सी तकदीर हूं मैं

         पर बिल्कुल ही अधूरी सी...


किसी अपने का प्यार हूं मैं

पर लगता अधूरा अधूरा सा... 

किसी की प्यारी चाहत हूं मैं

पर मेरी चाहत अधूरी सी...


          एक सूंदर सी जज्बात हूं मै

          पर लगता हमेशा अधूरा सा...

          एक प्यारी सी बात हूं मैं

          पर लगती हमेशा अधूरी सी ...


एक चांद के जैसी हूं मैं

पर वो भी अधूरी अधूरी सी ...

एक मीठी मीठी रात हूँ मैं

पर उस बिन अधूरी सी...


          एक सूंदर सा दिल हूं मैं

          पर दर्द भरा अधूरा सा...

          एक अच्छी सी लड़की हूं मैं

          पर तुझ बिन अधूरी सी ...


एक प्यारा सा एहसास हूं मैं

पर तुझ बिन अधूरी सी ...

एक प्यारी सी जिंदगी हूं मै

पर हर पल अधूरी सी ...


          एक तेरा सा वजूद हूं मै

          पर अहसास अधूरा सा...

          एक छोटी सी कहानी हूँ मैं

          पर तुम बिन अधूरी अधूरी सी...

                                       ...अधूरी सी…

                                        डॉ मंजुसैनी

                                          गाजियाबाद

Popular posts
सफेद दूब-
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं यमुनानगर हरियाणा से कवियत्री सीमा कौशल
Image
पापा की यादें
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image