अभय बन तू चलता जा

 18 मई जन्म दिवस पर विशेष



कमल राठौर साहिल 

तू चलता जा , तू चलता जा

अच्छा है , बुरा है 

कर्मपथ पे बढ़ता जा।

निश्चय कर तू ना रुकेगा कभी

निश्चय कर तू ना झुकेगा कभी

तू चलता जा , तू चलता जा


राह के काटो से विचलित न हो कभी

गिर गिर कर तू उठता जा

अभय बन तू बढ़ता जा 

कर्मपथ पे निर्भय हो 

तू चलता जा , तू चलता जा 


काल की धार पे ,

आगे बढ़ता जा।

होसलो के तीर चलाये जा

 तेरी रगों में खून दौड़ रहा 

वीर शहीदों का ,

तू चलता जा , तू चलता जा


जवानी का जलवा दिखाये जा 

तू वक़्त से ताल मिलाये जा

तू कर्मपथ पे मुस्कुराये जा

ज़िन्दगी के गीत गाये जा

 तू चलता जा , तू चलता जा


कमल राठौर साहिल 

शिवपुर , मध्यप्रदेश

96859 07895

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
भगवान परशुराम की आरती
Image
पुराने-फटे कपड़े से डिजाइनदार पैरदान
Image