अभय बन तू चलता जा

 18 मई जन्म दिवस पर विशेष



कमल राठौर साहिल 

तू चलता जा , तू चलता जा

अच्छा है , बुरा है 

कर्मपथ पे बढ़ता जा।

निश्चय कर तू ना रुकेगा कभी

निश्चय कर तू ना झुकेगा कभी

तू चलता जा , तू चलता जा


राह के काटो से विचलित न हो कभी

गिर गिर कर तू उठता जा

अभय बन तू बढ़ता जा 

कर्मपथ पे निर्भय हो 

तू चलता जा , तू चलता जा 


काल की धार पे ,

आगे बढ़ता जा।

होसलो के तीर चलाये जा

 तेरी रगों में खून दौड़ रहा 

वीर शहीदों का ,

तू चलता जा , तू चलता जा


जवानी का जलवा दिखाये जा 

तू वक़्त से ताल मिलाये जा

तू कर्मपथ पे मुस्कुराये जा

ज़िन्दगी के गीत गाये जा

 तू चलता जा , तू चलता जा


कमल राठौर साहिल 

शिवपुर , मध्यप्रदेश

96859 07895

Popular posts
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
अंजु दास गीतांजलि की ---5 ग़ज़लें
Image
हार्दिक शुभकामनाएं
Image