कोरोना के साथ-साथ डेंगू के कहर से लोग दहशत में

दैनिक दिग्राम टुडे


ब्यूरो रिपोर्ट - अजय कुमार मांझी


अयोध्या : कोरोना संक्रमण के बीच बदलते मौसम में इन दिनों जुकाम-बुखार के साथ डेंगू, चिकनगुनिया व अन्य संक्रामक रोगों का कहर भी शुरू हो गया है। जिला अस्पताल से लेकर निजी अस्पताल तक में मरीजों का तांता लगा है। कोरोना संक्रमण को लेकर भी तमाम लोग आशंकित हैं। चिकित्सकों का कहना है कि तीन दिन तक निगरानी के बाद आराम न होने पर विशेषज्ञों से संपर्क कर जांच कराना जरूरी है। इस समय स्वास्थ्य के प्रति लापरवाही भारी पड़ सकती है।


जिले में कोरोना संक्रमण का तेजी से बढ़ रहा है। प्रतिदिन नए कोरोना मरीजों का शतक लगता देखा जा रहा है। इससे जनपदवासी पहले से खौफ के साए में जी रहे थे कि इन दिनों बदलते मौसम का भी कहर शुरू हो गया है। दिन में तेज धूप व उमस व रात में ओस गिरने की वजह से लोग सर्दी, जुकाम, बुखार आदि की चपेट में आ रहे हैं। वहीं, बरसात के पानी में जमा हुए मच्छरों के डंक मारने से डेंगू के मामले भी सामने आने लगे हैं। 


हालांकि, अस्पतालों की ओपीडी बंद होने से इन मरीजों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। सिर्फ इमरजेंसी ओपीडी में पहुंचने पर ही जांच आदि हो पा रही है। लेकिन हकीकत में शहर से ग्रामीण इलाके तक लगभग हर घर में लोग इन समस्याओं से पीड़ित हैं। कुछ तो कोरोना को लेकर भयभीत हैं तो कुछ निजी चिकित्सक व झोलाछाप की शरण में जाकर पैरासिटामॉल व एंटी बायोटिक दवाओं के सेवन से ठीक भी हो रहे हैं। वहीं, जानकारी के अभाव में डेंगू, टायफाइड व कोरोना संक्रमण के बीच में भी लोग उलझे हैं और समय पर उचित इलाज तक नहीं पहुंच पा रहे हैं।


मेडिकल कॉलेज के मेडिसिन विभागाध्यक्ष डॉ. अरविंद कुमार के अनुसार कोरोना संक्रमण और डेंगू दोनों में ही रोगी को बुखार आता है। लेकिन डेंगू में तेज बुखार होता है। साथ में उल्टी, सूजन, शरीर में चकत्ते होते हैं। अगर डेंगू ने गंभीर रूप ले लिया हो तो इसमें बार-बार उल्टी आना, सांस तेज चलना, बदन व पेट में दर्द, मसूड़ों में खून निकलना, कमजोरी आदि शामिल है। वहीं, कोरोना संक्रमण होने पर रोगी को दस्त हो सकते हैं। शुरुआत में बुखार, सूखी या बलगम वाली खांसी, सांस लेने में दिक्कत, सीने में जकड़न, स्वाद का पता न चलना, सुगंध न आना, गले में खरास आदि शामिल हैं। 


इन दिनों मौसम का मिजाज बदल रहा है। कोरोना संक्रमण तो चरम पर है ही, डेंगू का कहर भी शुरू हो गया है। साथ ही दिन में उमस व रात्रि को मौसम में नमी की वजह से लोग वायरल की चपेट में भी आ रहे हैं। तीन दिन तक यदि बुखार आए और नियमित रूप से दवाओं का सेवन करने पर भी आराम न हो तो फिजीशियन से संपर्क कर लक्षण के अनुरूप जांच कराएं। इस समय लापरवाही बरतने से गंभीर नतीजे हो सकते हैं।


Popular posts
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
अंजु दास गीतांजलि की ---5 ग़ज़लें
Image
सफेद दूब-
Image
नारी शक्ति का हुआ सम्मान....भाजपा जिला अध्यक्ष
Image