हिन्दी दिवस 


अपनों से ही छली गई हिन्दी, 


राष्ट्र भाषा न बन सकी हिन्दी |


 


सादर दर साल माह पखवाड़े, 


फाइलों में ही घुट रही हिन्दी |


 


शान से गढ़ रहे हैं हम नारे, 


हाशिये पर सिमट गई हिन्दी |


 


गर्भ से संस्कृत के जन्मी थी, 


साथ उर्दू के पल रही हिन्दी |


 


सबके बच्चे पढ़ेंगे अंग्रेज़ी, 


रोज़ी रोटी न बन सकी हिन्दी |


 


वोट की राजनीति में फंसकर, 


राजभाषा ही रह गई हिन्दी |


 


औपचारिक हिन्दी दिवस की सभी हिन्दी भाषियों को बधाई


 


अशोक श्रीवास्तव


प्रयागराज 


Popular posts
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
अंजु दास गीतांजलि की ---5 ग़ज़लें
Image
हार्दिक शुभकामनाएं
Image