गुरू द्वार है, दीवार नहीं : घनश्याम गुप्ता

नेशनल कन्या इण्टर कालेज खानपुर में शिक्षक दिवस पर कार्यक्रम आयोजित



श्वेता शाही


खानपुर ( हरिद्वार )।गुरू की महिमा को पूरे संसार के वृक्षों से कलम बनाकर और सागर के पानी की स्याही बनाकर नही लिखा जा सकता है। यह विचार नेशनल कन्या इण्टर कालेज, खानपुर के प्रधानाचार्य डाॅ0 घनश्याम गुप्ता ने शिक्षक दिवस के अवसर पर शिक्षकों को सम्बोधित करते हुए व्यक्त किये।


         उन्होंने कहा कि गुरू द्वार है, दीवार नहीं। माँ-बाप बच्चों को जन्म और संस्कार देते है, वहीं गुरू उन्हें योग्य बनाता है।


         इस अवसर पर बोर्ड परीक्षा-2020 में शत प्रतिशत परीक्षाफल देने वाले अध्यापको सुरेशचन्द कवटियाल, मीनू यादव, प्रमोद कुमार शर्मा, मुकेश कुमार, मिनाक्षी, विजय कुमार को प्रशस्ति पत्र व स्मृति चिहन देकर सम्मानित किया गया। मंच संचालन के लिए डाॅ0 पारस चैधरी को भी सम्मानित किया गया। सभी अध्यापक-अध्यापिकाओं ने कविता, भाषण आदि के माध्यम से शिक्षक दिवस की महत्ता पर प्रकाश डाला। प्रधानाचार्य व शिक्षको ने भारत रत्न सर्वपल्ली डाॅ0 राधा कृष्णन के चित्र पर पुष्पांजलि अर्पित कर उन्हें नमन किया। 


        इस अवसर पर बलराम गुप्ता, रविन्द्र कुमार, पंकज चैहान, संजय गुप्ता, अखिल कुमार, गायत्री, डा0 रंजना, अजुंली, सुधा, रूबी, नूतन, सोमेन्द्र सिंह, अमित गर्ग, विशाल कुमार, ओमपाल, बृजपाल, सुन्दर, संजय आदि मुख्य रूप से उपस्थित रहे।


Popular posts
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
गीता सार
भिण्ड में रेत माफियाओं के सहारे चुनाव जीतने की उम्मीद ?
Image
सफलता क्या है ?
Image