देश भक्त अब तुम मेरी यादों में स्मृति-चिह्न हो केवल - रेणु ठाकुर


भीलवाड़ा, राजस्थान (भैरु सिंह राठौड़)! भागलपुर (बिहार) की जानी मानी लेखिका रेणु ठाकुर ने देशभक्तों की चिर आस्था को याद करते हुए आज के भूलते हुए राजनेता और युवा पीढ़ी पर गहरा कटाक्ष किया है कि उनके प्रति इनकी अनभिज्ञता के चलते इन्हें सिर्फ पन्द्रह अगस्त या 26 जनवरी पर याद करते हुए यादों में समेट दिया है! आज देश भक्त सिर्फ स्मृति-चिह्न मात्र रह गए हैं! 


स्मृति-चिह्न


आजादी के प्रतीक


राष्ट्र के गौरव 


सपूत भारत माता के


सबके चहेते देशभक्त 


तुम याद आते बार-बार 


तुम्हारे सपनों का भारत


छूट गया बहुत पीछे, 


आदमखोर शिकारियों का झुंड


अब आदमी की कीमत नहीं जानता 


तुम्हारी शर्म जोशी चेतना 


और आज का गर्म उबाल तांडव


दोनों में आ गया कितना अंतर?


तुम थे तो


आजादी का भविष्य था सुरक्षित 


अब तुम सिर्फ स्मृति में शेष हो


इसे मैं अपनी मजबूरी कहूं 


या महान देशभक्त के प्रति समर्पित भाव


नहीं जानती


बस तुम जो भी हो


प्रतीक, हो मेरी आजादी के 


मेरे अंदर की गहराई के


शेष स्मृति-चिन्ह


 


*लेखिका - रेणु ठाकुर भागलपुर, बिहार


 


*रिपोर्ट - भैरु सिंह राठौड़, भीलवाड़ा (राजस्थान) 09799988158*


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
आपका जन्म किस गण में हुआ है और आपके पास कौनसी शक्तियां मौजूद हैं
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
साहित्यिक परिचय : नीलम राकेश
Image