एक जिला एक उत्पाद योजना लागू होने से सैकड़ों स्थानीय कामगारों का दूर हुआ रोजी रोटी का संकट

 



ब्यूरोचीफ,, चंद्रशेखर सोनी की रिपोर्ट


बस्ती । उत्तर प्रदेश सरकार ने लघु और मध्यम उद्योग को बढ़ावा देने के लिए स्वरोजगार को प्रोत्साहित करने के उद्देश से एक जिला एक उत्पाद योजना का शुभारंभ किया है। एक जिला एक उत्पाद योजना के जरिए छोटे-छोटे कारीगरों का पलायन रोकने स्थानीय स्तर पर अच्छा मुनाफा दिलाने एवं अपना घर छोड़कर किसी दूसरी जगह पर भटकना न पड़े इसको लेकर इस योजना की शुरुआतर की गई है और सरकार ने छोटे से छोटे गांव का नाम देश प्रदेश में पहचान दिलाने के लिए सरकार ने यह योजना बनाकर चलाई है। उत्तर प्रदेश के सभी जिलो का अपना एक प्रोडक्ट होगा जिससे उस जिले की पहचान बढ़ेगी।


उत्तर प्रदेश सरकार की योजनाओं की सूची में बहुत सी ऐसी योजनाएं हैं जो बेरोजगारों को रोजगार देने में मदद करती है। सरकार की इस योजना से सामानों का निर्यात अधिक मात्रा में सम्भव हो सकेगा वैसे प्रदेश में बहुत से ऐसे सामान बनते हैं जो देश और प्रदेश में प्रचलित हैं और ऐसे भी तमाम सामान गांव में बनते हैं जिसको कोई नहीं जानता उसी को लेकर सरकार कारीगरों की हुई पहचान वापस दिलाने के लिए यह योजना बनाई है जिससे जिले के तमाम छोटे-छोटे उद्यमी लाभ ले रहे हैं और तमाम श्रमिकों को स्थानीय स्तर पर काम भी मिल जा रहा है।


एक जिला एक उत्पाद योजना के अंतर्गत बस्ती जनपद को *"काष्ट कला गुड क्राफ्ट फर्नीचर उद्योग"* में चयनित किया गया है इस योजना से जिले में 38 इकाई काम कर रही हैं 300 लोगों को प्रशिक्षण देकर टूल किट प्रदान किया गया है जिससे वह अपने अपने कार्य को सुचारु रूप से कर सके। इस वर्ष भी 40 इकाइयों को स्थापित करने का लक्ष्य मिला है।


 इस योजना से जुड़े उद्यमियों ने बताया कि सरकार की यह योजना बहुत अच्छी है, इस योजना से हमें लाभ मिल रहा है। हमारे पास पूंजी का अभाव रहता था इसलिए काम ठीक से नहीं चल पा रहा था। सरकार द्वारा प्रोत्साहित करने से हमारा काम अच्छे तरीके से चलने लगा और काम की मांग भी बढ़ने लगी जिससे हम लोग अब तमाम छोटे कारीगरों को काम पर भी खकर काम करा रहे हैं जिससे तमाम लोगों को रोजगार भी मिल जा रहा है। वैसे उद्यमियों ने कहा है कि हमें सिर्फ बिजली की समस्या है अगर बिजली की समस्या ठीक हो जाए तो हम और अच्छे ढंग से काम करने लगेंगे वैसे पहले की अपेक्षा इस समय काम बहुत अच्छा चल रहा है।


वही इस संबंध में उपनिदेशक उद्योग उदय प्रकाश पासवान ने बताया कि सरकार की यह योजना छोटे उद्यमियों कि लिए बहुत कारगर साबित हो रही है। हमारे जिले में 38 इकाइयां पूरी तरह से काम कर रही हैं और इस वर्ष 150 लोगों को प्रशिक्षण दिया जा रहा है और 40 इकाई लगाने के लिए लक्ष्य मिला है जिसका काम तेजी से चल रहा है। जल्द ही इकाइयां स्थापित हो जाएगी।


 


Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image
सफेद दूब-
Image
शिव स्तुति
Image