अधूरी मोहब्बत


 



नशा मोहब्बत का कभी न करना
अधूरी रह जाती है मोहब्बत ये सोच लेना


अधूरी मोहब्बत की दास्ताँ न पूछो
दिल टूट जाता है कभी किसी से दिल न लगाना


अधूरी मोहब्बत का सितम न पूछ अतुल दीवाने से
तन्हा शायर बन जाता है मोहब्बत के पैमाने से 


बड़ी अजीब कश्मकश में डाल देती ये अधूरी मोहब्बत
न जीने देती न मरने देती ये अधूरी मोहब्बत


जिसकी ख़ातिर चढ़ा ये नशा शायरी का
वो मेरी पहली अधूरी थी एकतरफा मोहब्बत
@अतुल पाठक
जनपद हाथरस(उ.प्र.)


Popular posts
सफेद दूब-
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
गीता सार
मैं मजदूर हूँ
Image