प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में दरभंगा सहित समस्त मिथिला का सर्वांगीण विकास हो रहा है

दरभंगा एयरफोर्स स्टेशन के भवन में दूसरी पाली में संचालित हो रही है। केन्द्रीय विद्यालय


मीर शहनवाज


दरभंगा। बुधवार को दरभंगा के सांसद गोपाल जी ठाकुर ने केंद्रीय विद्यालय 2,दरभंगा हेतु बहादुरपुर प्रखंड के तारालाही में प्रस्तावित भूमि का दिल्ली से आयी हुई। टीम के साथ निरीक्षण किया। प्राप्त जानकारी के अनुसार निरीक्षण के उपरांत तीन सदस्यीय टीम के साथ सांसद ने एक बैठक भी की।सांसद ठाकुर ने कहा कि केंद्रीय विद्यालय संख्या-2,दरभंगा जो अस्थायी रूप से केंद्रीय विद्यालय संख्या-1,एयरफोर्स स्टेशन (दरभंगा) के भवन में दूसरी पाली में संचालित हो रही है।
विदित हो कि केंद्रीय विद्यालय निर्माण हेतु 5 एकड़ भूमि पर निर्माण होता है लेकिन बिहार सरकार ने केंद्रीय विद्यालय संख्या-2,दरभंगा के लिए 4 एकड़ भूमि दिया। पूर्व में संसाद ने भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्री रमेश पोखरियाल निशंक से मुलाकात कर 4 एकड़ भूमि के प्रस्ताव को स्वीकृत करने का आग्रह किया था। ठाकुर ने कहा था कि बिहार के लिए 4 एकड़ के प्रस्ताव को ही स्वीकृति दिया जाए, अब मंत्री ने स्वीकृति दे दी है। इस वजह से दरभंगा सहित गोपालगंज, बक्सर, महराजगंज, छपरा मे जहाँ 4 एकड़ की भूमि केंद्रीय विद्यालय हेतु प्रस्तावित है अब वहाँ भी उक्त भूमि में ही निर्माण हो जाएगा। सांसद ठाकुर ने निरीक्षण के उपरांत टीम के द्वारा कहे गए तीन प्रमुख समस्या का जल्द समाधान करवाने का आश्वासन भी दिया, जिसमें उक्त भूमि के ऊपर से बिहार सरकार के बिजली विभाग द्वारा ले जा रहे हाई वोल्टेज बिजली टावर का मार्ग परिवर्तित करने, भूमि का रजिस्ट्रेशन और उक्त भूमि पर कुछ गड्ढे का मिट्टीकरण करवाने की बात कही गयी है।सांसद ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में दरभंगा सहित समस्त मिथिला का सर्वांगीण विकास हो रहा है। उन्होंने दरभंगा में एम्स व एयरपोर्ट देने हेतु जनक नंदनी माँ जानकी की धरती मिथिला एवं मिथिलावासियों के तरफ से मोदी सरकार के प्रति आभार व्यक्त किया है। साथ ही सहयोग देने हेतु बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को धन्यवाद दिया।निरीक्षण में केंद्रीय विद्यालय के उपायुक्त ए के मिश्रा, बिहार के पदाधिकारी आर के दास, दरभंगा केंद्रीय विद्यालय के प्राचार्य अनंत कुमार मिश्रा, भाजपा जिलाध्यक्ष जीवछ सहनी, पूर्व जिलाध्यक्ष हरि सहनी, मुरारी मोहन झा, अभय झा, पारस नाथ चौधरी, अमलेश झा, संजीव गुप्ता, राहुल कर्ण, अभिषेक कर्ण, वीरेन्द्र पासवान, प्रेम कुमार मिश्रा उर्फ रिंकू, अविनाश शाह के अलावा कई कार्यकर्ता सहित अन्य लोग मौजूद थे।


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
आपका जन्म किस गण में हुआ है और आपके पास कौनसी शक्तियां मौजूद हैं
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
साहित्यिक परिचय : नीलम राकेश
Image