आधा आधा

आधीही रात थी वो
आधाही चन्द्र था वो
आधा भरा खुशीसे
प्याला जो हाथ था वो


आधाही शब्द था वो
आधाही अर्थ था वो 
आधा आसान था वो 
आधा कठिन था
वो 


आधा निबंध था वो
आधा प्रबंध था वो
आधेही बंधनोंका
जो एक खेल था वो


आधा यहांही था वो
आधा वहांभी था वो
आधा सवाल था वो 
आधा जवाब था वो


आधा हमारा था वो
आधाही उनका था वो
आधा आधा मिलाके
पूरा न किसका था वो


आधा अनाड़ी था वो
आधा खिलाडी था
वो
ऐसे ही प्यारका वो
आधा झमेला था वो


आधा इतिहास था वो
आधा भविष्य था वो
ऐसे ही आज का वो
जो वर्तमान था वो


दिवाकर


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
आपका जन्म किस गण में हुआ है और आपके पास कौनसी शक्तियां मौजूद हैं
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
साहित्यिक परिचय : नीलम राकेश
Image