शिव रात्रि 21 फरवरी को बन रहे विशेष योग : पं. रमेश सेमवाल

 



रुड़की ।


शिव शक्ति ज्योतिष अनुसंधान संस्थान के अध्यक्ष आचार्य पंडित रमेश सेमवाल ने बताया कि इस वर्ष शिवरात्रि का पर्व 21 फरवरी 2020 को मनाया जाएगा ‌। उन्होंने बताया कि इस वर्ष शिवरात्रि पर्व पर विशेष योग बन रहे हैं उन्होंने बताया कि यह पर्व फाल्गुन कृष्ण पक्ष चतुर्दशी तिथि को मनाया जाता है । इससे पहले शिवरात्रि में यह दुर्लभ योग 25 फरवरी 1903 में पड़ा था ‌।
इस वर्ष शनि स्वयं की राशि मकर में रहेंगे शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में रहेंगे तथा बृहस्पति धनु राशि में रहेंगे । 21 फरवरी को सर्वार्थसिद्धि योग भी रहेगा यह योग बहुत शुभ है ‌।
पंडित रमेश सेमवाल ने बताया कि 21 फरवरी को 5:00 बज कर 22 मिनट शाम से 22 फरवरी 7:02 शाम तक चतुर्दशी तिथि रहेगी। उन्होंने कहा कि 2 दिन शिव पूजन करें ‌। 21 फरवरी को विशेष मुहूर्त है रात्रि को चार पहर का पूजन करें दूध दही शहद घी मिश्री मक्खन गन्ने का रस आम का रस बेलपत्र धतूरा आदि से शिव जी का पूजन करें। शिवरात्रि में कालसर्प योग और विष योग की शांति कराएं। उन्होंने बताया कि इस वर्ष शिवरात्रि पर विष योग भी बन रहा है इससे पहले शिवरात्रि पर विष योग 28 वर्ष पहले 2 मार्च 1992 को बना था विष योग व कालसर्प योग की शांति जरूर कराएं फाल्गुन कृष्ण पक्ष चतुर्दशी तिथि को शिवरात्रि पर्व की मान्यता है कि सर्वप्रथम शिवलिंग चतुर्दशी तिथि को ही संसार में प्रकट हुआ था दूसरी मान्यता माता पार्वती और भगवान भोलेनाथ के विवाह की है। शिवरात्रि पर पूरे दिन व रात को व्रत रखें अगले दिन व्रत खोलें जिन लड़के लड़कियों के विवाह में विघ्न बाधा आ रही है वे शिव पूजन अवश्य करें ।



21 फरवरी ग्रह योग स्थिति 117 साल बाद विशेष योग
शनि चंद्र मकर राशि में सूर्य बुध कुंभ राशि में शुक्र अपनी उच्च राशि मीन में मंगल केतु गुरु धनु राशि में राहु मिथुन राशि में


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image