लड़के

 



मन के मीठे पर आंखों के खारे होते हैं 
गौर से देखो हम लड़के भी प्यारे होते हैं !


तकलीफें कितनी हों हम हरदम मुस्काते हैं 
हम चश्मे के पीछे अपना दर्द छुपाते हैं !


घर से बाहर हों तो कौन सुलाए आकर के 
हम सोने की खातिर खुद ही लोरी गाते हैं !


आसमान से बिछड़े टूटे तारे होते हैं 
गौर से देखो हम लड़के भी प्यारे होते हैं !


हम उम्मीदों के बस्ते कंधों पर ढोते हैं 
कभी कभी आते हैं आंसू हम भी रोते हैं !


जब हमको ये दुनिया हारा हारा कहती है 
तब इस बंजर दुनिया मे मुस्काने बोते हैं ! 


हम छत चौखट आँगन और चौबारे होते हैं 
गौर से देखो हम लड़के भी प्यारे होते हैं ! ,, ♥️


~ {अंकुर पांडेय} ~


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
सफेद दूब-
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image