आया रविवार गया रविवार

 


आया रविवार
गया रविवार ।
हो गए काम
घरेलू चार ।।


टेलर बार्बर
और पलंबर
सबका सब
रोकड़ा व्यवहार ।


सुबह सुबहमें
मेहमान चार  
दोपहर का भोजन
खुमासदार ।


शामको सबने
भरपेट खाया
इडली चटनी
और सांबार ।।


सुबह के मेहमान 
बनारस मसाला
पान खाकर
हुए पसार ।


ठंडी ने किया 
टाटा गुडबाय
गर्मीने खोला
अपना द्वार ।


आया रविवार
गया रविवार
आगे रहा
खड़ा सोमवार ।।


दिवाकर
16 2 2020


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image