आज का हिन्दू पंचांग

 


दिनांक 20 नवम्बर 2019
दिन - बुधवार
विक्रम संवत - 2076
शक संवत -1941
अयन - दक्षिणायन
ऋतु - हेमंत
मास - मार्गशीर्ष (गुजरात एवं महाराष्ट्र अनुसार कार्तिक)
पक्ष - कृष्ण
तिथि - अष्टमी शाम 01:41 तक तत्पश्चात नवमी
नक्षत्र - मधा रात्रि 08:05 तक तत्पश्चात पूर्वाफाल्गुनी
योग - इन्द्र शाम 07:19 तक तत्पश्चात वैधृति
राहुकाल - दोपहर 12:12 से दोपहर 01:34 तक
सूर्योदय - 06:53*
सूर्यास्त - 17:55
दिशाशूल - उत्तर दिशा में
व्रत पर्व विवरण - बुधवारी अष्टमी  (सूर्योदय से दोपहर 01:41 तक)
 विशेष - अष्टमी को नारियल का फल खाने से बुद्धि का नाश होता है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-34)
अष्टमी तिथि के दिन स्त्री-सहवास तथा तिल का तेल खाना और लगाना निषिद्ध है।(ब्रह्मवैवर्त पुराण, ब्रह्म खंडः 27.29-38)


बुधवारी अष्टमी


20 नवंबर 2019 सूर्योदय से दोपहर 01:41 तक बुधवारी अष्टमी  हैं ।
बुधवारी अष्टमी को  किये गए जप, तप, मौन, दान व ध्यान का फल अक्षय होता है ।
मंत्र जप एवं शुभ संकल्प हेतु
 विशेष तिथि  सोमवती अमावस्या, रविवारी सप्तमी, मंगलवारी चतुर्थी, बुधवारी अष्टमी –  ये चार तिथियाँ सूर्यग्रहण के बराबर कही गयी हैं।  इनमें किया गया जप-ध्यान, स्नान , दान व श्राद्ध अक्षय होता है।(शिव पुराण, विद्यश्वर संहिताः अध्याय 10)
         
नारी कल्याण पाक


यह पाक युवतियों, गर्भिणी, नवप्रसूता माताएँ तथा महिलाएँ – सभी के लिए लाभदायी है |


लाभ : यह बल व रक्तवर्धक, प्रजनन – अंगों को सशक्त बनानेवाला, गर्भपोषक, गर्भस्थापक (गर्भ को स्थिर – पुष्ट करनेवाला), श्रमहारक (श्रम से होनेवाली थकावट को मिटानेवाला) व उत्तम पित्तनाशक है | एक – दो माह तक इसका सेवन करने से श्वेतप्रदर (ल्यूकोरिया, अत्यधिक मासिक रक्तस्राव व उसके कारण होनेवाले कमरदर्द, रक्त की कमी, कमजोरी , निस्तेजता आदि दूर होकर शक्ति व स्फूर्ति आती है | जिन माताओं को बार-बार गर्भपात होता हो उनके लिए यह विशेष हितकर है | सगर्भावस्था में छठे महिने से पाक का सेवन शुरू करने से बालक हृष्ट-पुष्ट होता है, दूध भी खुलकर आता है |
धातु की दुर्बलता में पुरुष भी इसका उपयोग कर सकते है |
सामग्री : सिंघाड़े का आटा, गेंहू का आटा व देशी घी प्रत्येक २५० ग्राम, खजूर १०० ग्राम, बबूल का पिसा हुआ गोंद १०० ग्राम, पिसी मिश्री ५०० ग्राम |
विधि : घी को गर्म कर गोंद को घी में भून लें | फिर उसमें सिंघाड़े व गेंहू का आटा मिलाकर धीमी आँच पर सेंके | जब मंद सुगंध आने लगे तब पिसा हुआ खजूर व मिश्री मिला दे | पाक बनने पर थाली में फैलाकर छोटे-छोटे टुकड़ों में काटकर रखें |
सेवन-विधि : २ टुकड़े ( लगभग २० ग्राम ) सुबह शाम खायें | ऊपर से दूध पी सकते हैं |
सावधानी : खट्टे, मिर्च-मसालेदार व तेल में तले हुए तथा ब्रेड-बिस्कुट आदि बासी पदार्थ न खाये |
       


       आज का राशिफल
मेष
सकारात्मक-लिखने-पढ़ने के लिए अच्छा समय है। इसमें समय व्यतीत करें।
नकारात्मक-भावनाओं में बहकर निर्णय न लें।
प्रेम-तू-तू, मैं-मैं की स्थिति बनी रहेगी।
व्यवसाय-अच्छी स्थिति है।
सेहत-ठीक स्थिति है।
उपाय-हनुमान जी का दर्शन करें।


वृषभ
सकारात्मक-भूमि, भवन, वाहन की खरीदारी का योग बनेगा। मां के स्वास्थ्य में सुधार होगा। घर में कोई उत्सव हो सकता है।
नकारात्मक-जीवनसाथी से थोड़ा रुखापन बना रहेगा।
प्रेम-मध्यम स्थिति है।
व्यवसाय-अच्छी स्थिति है।
सेहत-ठीक स्थिति है।
उपाय-सूर्यदेव को जल दें।


मिथुन
सकारात्मक-भाईयों-मित्रों के सहयोग से कार्यों को कर डालेंगे। बस शुरुआत कीजिए। शुरुआत के लिए अच्छा समय है।
नकारात्मक-असमंजस की स्थिति बनी रहेगी।
प्रेम-अच्छी स्थिति है।
व्यवसाय-ठीक स्थिति है।
सेहत-करीब-करीब ठीक स्थिति है।
उपाय-ताम्रपात्र दान करें।


कर्क
सकारात्मक-स्वयं पर नियंत्रण बनाए रखेंगे।
नकारात्मक-जुबान अनियंत्रित हो सकती है। कुटुंबों से उलझ सकते हैं। कंट्रोल करके चलिए।
प्रेम-पहले से बेहतर स्थिति है।
व्यवसाय-ठीक स्थिति है।
सेहत-पहले से बेहतर स्थिति है।
उपाय-लाल वस्तु पास रखें।


सिंह
सकारात्मक-ओजस्वी-तेजस्वी बने रहेंगे। नायक-नायिका की भांति चमकते दिख रहे हैं।
नकारात्मक-अक्रामकता से नुकसान हो सकता है।
प्रेम-बहुत अच्छी स्थिति है।
व्यवसाय-चार चांद लगा हुआ है।
सेहत-सुधर रही है।
उपाय-कोई पीली वस्तु पास रखें।


कन्या
सकारात्मक-संयम बना रहेगा।
नकारात्मक-मन थोड़ा परेशान रहेगा। खर्च की अधिकता को लेकर चिंतित रहेंगे।
प्रेम-अच्छी स्थिति है।
व्यवसाय-रोजगार तरक्की की तरफ बढ़ रहा है।
सेहत-मध्यम स्थिति है।
उपाय-शनिदेव का दर्शन करें।


तुला
सकारात्मक-आर्थिक स्थिति मजबूत होती दिख रही है। शुभ समाचार की प्राप्ति होगी।
नकारात्मक-थोड़ा चिढ़चिढ़ापन बना रहेगा।
प्रेम-पहले से बेहतर स्थिति है।
व्यवसाय-ठीक ठाक है।
सेहत-मध्यम स्थिति है।
उपाय-नीली वस्तु पास रखें।


वृश्चिक
सकारात्मक-शासन सत्ता पक्ष का सहयोग मिलेगा। राजनीतिक लाभ की स्थिति में रहेंगे।
नकारात्मक-मानसिक चंचलता पर नियंत्रण रखें।
प्रेम-अच्छी स्थिति है।
व्यवसाय-स्थिति सुदृढ़ होगी।
सेहत-पहले से बेहतर स्थिति है।
उपाय-केसर का तिलक लगाएं।


धनु
सकारात्मक-जीवन में निरंतर सुधार हो रहा है। भाग्यवश कोई काम बनेगा।
नकारात्मक-मान सम्मान पर बात आ सकती है।
प्रेम-पहले से बेहतर स्थिति है।
व्यवसाय-पहले से बेहतर स्थिति होगी।
सेहत-पहले से बेहतर स्थिति होगी।
उपाय-हनुमान जी का दर्शन करें।


मकर
सकारात्मक-बुद्धि से काम लेंगे।
नकारात्मक-चोट लग सकती है। परिस्थितियां अचानक प्रतिकूल हो सकती हैं।
प्रेम-ठीक ठाक चलेगा।
व्यवसाय-ठीक स्थिति है।
सेहत-ध्यान देने की जरूरत है।
उपाय-कालीजी का दर्शन करें।


कुंभ
सकारात्मक-रंगीन बने रहेंगे। अच्छा समय चल रहा है।
नकारात्मक-संतान पक्ष को लेकर थोड़ा परेशान रहेंगे।
प्रेम-जीवनसाथी से समीपता होगी। प्रेमी-प्रेमिका की मुलाकात हो सकती है।
व्यवसाय-ठीक स्थिति है।
सेहत-ठीक स्थिति है।
उपाय-कोई हरी वस्तु पास रखें।


मीन
सकारात्मक-विरोधी परास्त होंगे। गूढ़ ज्ञान की प्राप्ति होगी। आगे बढ़ेंगे।
नकारात्मक-थोड़ा असहज महसूस करेंगे।
प्रेम-करीब-करीब ठीक स्थिति है।
व्यवसाय-आर्थिक-व्यवसायिक स्थिति अच्छी होगी।
सेहत-छोटी-मोटी चीजों को लेकर परेशान रह सकते हैं।
उपाय-सूर्यदेव को जल दें।


जिनका आज जन्मदिन है उनको हार्दिक शुभकामनाये


दिनांक 20 को जन्मे व्यक्ति का मूलांक 2 होगा। ग्यारह की संख्या आपस में मिलकर दो होती है इस तरह आपका मूलांक दो होगा। इस मूलांक को चन्द्र ग्रह संचालित करता है। चन्द्र ग्रह मन का कारक होता है। आप अत्यधिक भावुक होते हैं। आप स्वभाव से शंकालु भी होते हैं। दूसरों के दु:ख-दर्द से आप परेशान हो जाना आपकी कमजोरी है। 
 
आप मानसिक रूप से तो स्वस्थ हैं लेकिन शार‍ीरिक रूप से आप कमजोर हैं। चन्द्र ग्रह स्त्री ग्रह माना गया है। अत: आप अत्यंत कोमल स्वभाव के हैं। आपमें अभिमान तो जरा भी नहीं होता। चन्द्र के समान आपके स्वभाव में भी उतार-चढ़ाव पाया जाता है। आप अगर जल्दबाजी को त्याग दें तो आप जीवन में बहुत सफल होते हैं। 
शुभ दिनांक : 2,  11,  20,  29   
 
शुभ अंक : 2,  11,  20,  29,  56,  65,  92  
  
शुभ वर्ष :2021 2023 2027,  2029,  2036
 
ईष्टदेव : भगवान शिव,  बटुक भैरव
 
शुभ रंग : सफेद,  हल्का नीला,  सिल्वर ग्रे 
 
कैसा रहेगा यह वर्ष
लेखन से संबंधित मामलों में सावधानी रखना होगी। बगैर देखे किसी कागजात पर हस्ताक्षर ना करें। किसी नवीन कार्य योजनाओं की शुरुआत करने से पहले बड़ों की सलाह लें। व्यापार-व्यवसाय की स्थिति ठीक-ठीक रहेगी। स्वास्थ्य की दृष्टि से संभल कर चलने का वक्त होगा। पारिवारिक विवाद आपसी मेलजोल से ही सुलझाएं। दखलअंदाजी ठीक नहीं रहेगी। 


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
साहित्यिक परिचय : नीलम राकेश
Image