कल्याण सिंह भारती के लाल"



श्रीमती रीमा महेंद्र ठाकुर

भारत की अमूल्य धरा पर, 

राजनितिज्ञ का जन्म हुआ! 

पांच जनवरी,उन्नीस सौ बत्तीस, 

एक सितारा उदय हुआ!! 


माँ सीता देवी के नयनों के तारे थे! 

पिता तेजपाल लोधी के, राजदुलारे थे!! 

युवा अवस्था  में जनसेवा का कार्य किया! 

तन मन अर्पण कर, यू पी को सम्मान दिया!! 


सन् उन्नीस सौ अस्सी में, बी जे पी का गठन हुआ! 

महामंत्री बनकर फिर, यू पी सम्मान दिया!! 

बहूमत से सरकार बनायी, जनता में अगुवाई की! 

सोलहवें मुख्यमंत्री बन, खुद से ही भरपाई की!! 


छब्बीस अगस्त, बीस चौदह में कल्याण जी! 

राजस्थान राज्य पाल बने!! 

मानवता का फर्ज निभाकर! 

देश का अभिमान बने!! 


रामभक्त थे, जन्मभूमि के! 

विवादित, मुद्दे में अखिर तक डटें रहे!! 

कल्याण, नाम सार्थक कर! 

इक्कीस अगस्त को, राम प्रभु में लीन हुए!! 


श्रीमती रीमा महेंद्र ठाकुर

 (मुक्त लेखिका) रानापुर झाबुआ मध्यप्रदेश भारत

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
ठाकुर  की रखैल
Image
जीवीआईसी खुटहन के पूर्व प्रबंधक सह पूर्व जिला परिषद सदस्य का निधन
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
पीहू को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं
Image