परम पूज्य गुरदेव से एक प्रार्थना

 


डाःमलय तिवारी

इतनी कृपा हे गुरुवर, एक बार कीजिये। 

फंसी है भंवर में कस्ती, प्रभु पार कीजिये। 

हम पाप पंक डूबे, तू हो पाप पुंज नाशक, 

तुम तो हो औघड़ दानी, हम दीन हीन याचक, 

पीड़ा पतन से जग का, अब  उद्धार कीजिये। 

लाखों को तुमने स्वामी, भव सिन्धु से उबारा, 

जानें कितने गिरे हुए को, तुमने दिया सहारा, 

नाथ इस अनाथ की भी, प्रार्थना स्वीकार कीजिये। 

दाता तुम्हारे दर से, कोइ गया न खाली, 

चरणों हम भी तेरे, बैठे हैं बन सवाली,, 

मुझ पर भी अपने प्यार की, रसधार कीजिये। 

        डाःमलय तिवारी

 बदलापुर जौनपुर

Popular posts
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
अभिनय की दुनिया का एक संघर्षशील अभिनेता की कहानी "
Image
स्वयं सहायता समूह ग्राम संगठन का गठन
Image
आशीष भारती एवं मिनाक्षी भारती को सौशल मीडिया के माध्यम से द्वितीय वैवाहिक वर्षगांठ की मिली शुभकामनाएं
Image