पर्यावरण दिवस का ढकोसला

 


जितेन्द्र 'कबीर'

कितने संजीदा हैं हम पर्यावरण के लिए

यह विज्ञापनों में खूब दिखा लिया जाएगा।


स्कूलों में इस विषय पर पेंटिंग बनवाकर

साल भर इसे सुरक्षित करवा लिया जाएगा।


सरकारी कार्यालयों में भाषण दिलवाकर

इसका महत्व सबको समझा दिया जाएगा।


नेताओं द्वारा एक आध पौधा लगवाकर

बढ़िया सा फोटो एक खिंचवा लिया जाएगा।


उसके बाद उस पौधे का अगला जिम्मा

वापस कुदरत को ही फिर थमा दिया जाएगा।


जंगलों का कटान और सड़कों का निर्माण

प्राथमिकता के आधार पर करवा लिया जाएगा।


उसमें अगर हो किसी को कोई आपत्ति

तो उसे विकास के नाम पर दबा लिया जाएगा।


बदलती जीवनशैली वजह है ह्रास की इसके

लेकिन उसे बदलने से मुंह चुरा लिया जाएगा।


हर वर्ष की तरह इस बार भी धूमधाम से

अपना 'पर्यावरण दिवस' मना लिया जाएगा।


                                           जितेन्द्र 'कबीर'


 गांव नगोड़ी डाक घर साच तहसील व जिला चम्बा हिमाचल प्रदेश

संपर्क सूत्र - 7018558314

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
अभिनय की दुनिया का एक संघर्षशील अभिनेता की कहानी "
Image
स्वयं सहायता समूह ग्राम संगठन का गठन
Image
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image