गलवान के शहीदों की प्रथम पुण्यतिथि पर नमन

 

डा. पंकजवासिनी

 17000 फीट की ऊंँचाई पर लद्दाख की गलवान घाटी में आज ही के दिन 16 जून, 2020 को चीनी सैनिक गश्त लगाते वक्त (पूर्व हुए समझौते के विरुद्ध जाकर) भारतीय सीमा में लगभग 50 मील अंदर *(जिओलोकेटर की मदद से भी पता चला और सैटेलाइट इमेजरी एवं गूगल अर्थ के द्वारा चीन की तरफ से जारी किए वीडियो के विश्लेषण के बाद चीन पर दृष्टि जमाए एक सामरिक विशेषज्ञ ने दावा किया कि झड़प का यह स्थान भारत की तरफ 50 मील अंदर है)* घुसकर एक संकीर्ण दर्रे के पास भारतीय सैनिकों पर हमला कर दिए। दोनों के बीच झड़प शुरू हो गई! यह हमला कँटीले तारों वाले पत्थरों, धातु के राॅड, लाठी एवं पैने नाखूनों से किया गया था। 3 घंटे से ज्यादा देर तक यह झड़प चली। माइनस 30 डिग्री सेल्सियस के तापमान में जहांँ सांँस लेना भी दूभर होता है और हाथ- पाँव सुन्न कर देने वाली ठंड में बर्फीली हवाएंँ हड्डियों में सुई - सी चुभती हैं : वहाँ की ऐसी विपरीत - विषम परिस्थितियों में भारतीय सैनिकों ने अभूतपूर्व शौर्य और प्रचंड पराक्रम दिखलाते हुए चीन के 45 सैनिकों को धराशायी कर दिया : *(रूस की न्यूज़ एजेंसी "तास" के अनुसार गलवान में चीन के 45 सैनिक मारे गए थे, जबकि चीन ने माना था कि उसके सिर्फ 4 सैनिक मारे गए थे)* जिससे उनके हौसले पस्त हो गए। हताशा में चीनी सैनिकों ने गलवान नदी की तेज बहती धार में कई भारतीय सैनिकों को धकेल दिया। परिणाम स्वरूप इस हिंसक झड़प में भारत के 20 जांँबाज़ शहीद हो गए। 


आज इस घटना को 1 वर्ष पूर्ण हो गए। यूँ तो आज भारत चीन सीमा पर शांति बहाल है। पर विश्वास का वातावरण लहूलुहान है! कारण चीन की वादाखिलाफी!! गलवान हिंसा के बाद *तास* के कहने पर ही भारत एवं चीन के बीच पहली राजनय वार्ता हुई। सैन्य एवं राजनीतिक स्तर पर कई वार्ताएंँ होने के बाद दोनों सेनाओं ने फरवरी में पैंगोन झील के उत्तरी एवं दक्षिणी तट से सैनिकों एवं हथियारों को हटाने की प्रक्रिया पूर्ण कर ली है। *एलएसी* यानी *वास्तविक नियंत्रण रेखा* पर पहले से आज भारत काफी सशक्त हुआ है और इस गलवान में हुई हिंसक झड़प के बाद भारतीय सेना के तीनों अंगों के बीच बेहतर तालमेल बिठाते हुए आपसी एकजुटता बढ़ी है और *पूर्वी लद्दाख एवं अन्य क्षेत्रों में एलएसी के पास किसी भी तरह की उत्पन्न समस्त चुनौतियों से निपटने के लिए भारतीय थल सेना एवं वायु सेना संयुक्त रूप से आज तैयार है!!*


*देश की आन - बान और शान पर मर मिटने वाले बलवान के शहीदों को कृतज्ञ राष्ट्र की ओर से कोटिशः नमन!!!* 🙇‍♀️🙇‍♀️🙇‍♀️

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
अभिनय की दुनिया का एक संघर्षशील अभिनेता की कहानी "
Image