संघर्ष (कविता)

मधु अरोड़ा

संघर्षों की अथक कहानी,

 बिन संघर्ष अधूरी है जिंदगानी 

 जिंदगी कदम कदम पर कुछ सिखाती 

 परेशानी ही आदमी के जीने के नए आयाम बनाती 

 संघर्ष करते ,हौसला बढ़ता जाता।

  वही मानव जीवन में सफल होता जाता।

   ऐसा कोई जीवन नहीं जिसमें ना हो संघर्ष

    जिंदगी फूलों की सेज नहीं,

    कदम कदम पर कांटों का हे मेल ,

    सबकी जिंदगी में संघर्षों का खेल।

    यह भी गुजर जाएगा।

    हौसला रख हिम्मत ना हार ,

     वक्त गुजर जाएगा।

     गर्भ में आने से मरने तक ,

      जीवन संघर्षों की कहानी।

      जीवन धूप छांव जैसा,

      सुख दुख की बदली ने घेरा।

       मानव हिम्मत ना हार,

       यह भी गुजर जाएगा।

       यह भी गुजर जाएगा।।

                      दिल की कलम से

                           मधु अरोड़ा

                         

Popular posts
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
गीता सार
भिण्ड में रेत माफियाओं के सहारे चुनाव जीतने की उम्मीद ?
Image
सफलता क्या है ?
Image