शासनादेश और सहमति के बिना वेतन कटौती अनुचित : उप्रजूहाशिसंघ

संघ के जिला इकाई ने बीएसए और लेखाधिकारी को पत्र लिखकर वेतन कटौती के तरीके पर जताया एतराज

दि ग्राम टुडे नेटवर्क

गोरखपुर। उत्तर प्रदेश जूहा (पूमा) शिक्षक संघ ने एक संगठन विशेष के पत्र पर परिषदीय शिक्षकों के एक दिन के सामूहिक वेतन की कटौती का विरोध करते हुए बीएसए और वित्त लेखाधिकारी को ज्ञापन भेजा है। संघ का कहना है कि बिना किसी शासनादेश या प्रभावित शिक्षको की सहमति के बिना वेतन की कटौती विधिविरुद्ध और अनुचित है। 

संघ के जिलाध्यक्ष ज्ञानेश्वर पाण्डेय और महामंत्री बाल विनोद शुक्ल ने जिला बेसिक शिक्षा अधिकारी और वित्त एवं लेखाधिकारी को सम्बोधित ज्ञापन में कहा है कि संज्ञान में आया है कि एक संगठन विशेष के पत्र के आधार पर परिषदीय शिक्षको के वेतन से एक दिन की सामूहिक कटौती किया जाएगा। उक्त के सम्बंध के अवगत कराया है कि परिषदीय शिक्षको ने पिछले साल सामूहिक रूप से एक दिन का वेतन आपदा राहत कोष में दिया था। इसके बावजूद  शासन द्वारा शिक्षकों के महंगाई भत्ते का अद्यतन भुगतान भी निरन्तर रूप से नहीं किया जा रहा है। संघ का कहना है कि बिना किसी शासनादेश अथवा बिना शिक्षक के व्यक्तिगत सहमति के वेतन से किसी प्रकार की कटौती किये जाने का प्रावधान नहीं है। किसी व्यक्ति या संगठन विशेष के पत्र के आधार पर सामूहिक कटौती न्यायोचित नही है। संघ के पदाधिकारियों ने संबंधित अधिकारियों से वेतन कटौती के वैधानिक प्रक्रिया का पालन करते हुए प्रत्येक शिक्षक के व्यक्तिगत अनुरोध पर ही कटौती किये जाने की मांग की है।

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image
सफेद दूब-
Image