श्रद्धासुमन समर्पित तुम पर



अतुल पाठक " धैर्य "

चला गया गीतों का कुँअर,

स्मृति हृदय में अब भी शेष है।


जीवन समर्पण साहित्य सेवा में

गीतऋषि का जीवनचरित विशेष है।


गीत ग़ज़ल के तुम हस्ताक्षर, 

अमर रहेगा लिखा हर इक अक्षर।


अभिप्रेरक और गुरुवर तुम ही,

कविता गीत सरोवर तुम ही।


साहित्य जगत सदा गर्वित तुम पर,

यह कविता श्रद्धासुमन समर्पित तुम पर।

रचनाकार-अतुल पाठक " धैर्य "

पता-जनपद हाथरस(उत्तर प्रदेश)

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं यमुनानगर हरियाणा से कवियत्री सीमा कौशल
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
पापा की यादें
Image