मजदूर

 

श्वेता शर्मा

क्या किसी ने पूछा मजदूर से

इस लॉकडाउन में तुम कैसे जीते हो



क्या खाते हो क्या पीते हो

घर तुम्हारा कैसे चलता है

भूखे तुम कैसे सोते हो

क्या किसी ने पूछा मजदूर से

जिसने हमारे लिए रात दिन श्रम किया

स्वेद बहाया , रक्त दिया

आज वो खुद किस हाल में है

फँसा बेचारा माहमारी के जाल में है

बेरोजगारी उसे रुला रही है

पेट की आग सता रही है 

आज मजदूर की ये दुर्दशा है

बेकारी की ये सजा है

कोई तो पहल करो बढ़ो आगे

शांत करो व्याकुलता इनकी 

बढ़ो आगे , बढ़ो आगे।।

स्वरचित

श्वेता शर्मा

सुंदरनगर , ओम सोसायटी

रायपुर छत्तीसगढ़

Popular posts
सफेद दूब-
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं यमुनानगर हरियाणा से कवियत्री सीमा कौशल
Image
पापा की यादें
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image