लॉक डाउन में एक उच्च विद्यालय जंहा होती है ऑनलाइन पढ़ाई

 


शिक्षक बी के भारतीय का एक सफल प्रयास

बघौना सिसवन सिवान

बिहार सरकार के आदेशानुसार कोरोना के भयंकर तबाही में हम सभी अवगत है कि सभी सरकारी एवम गैर सरकारी विद्यालयों तथा कोचिंग संस्थान में शिक्षण कार्य बाधित है। इस से सभी विद्यार्थियों का भविष्य अधर में लटका पड़ा है। विदयालय कब खलेंगे कब नही कुछ कहा नही जा सकता। परंतु समय गुजरता जाएगा बच्चों का क्या पढ़ाई के बिना?

इस विकट परिस्थिति में उच्च विद्यालय बघौना के शिक्षक श्री बी के भारतीय का कार्य बहुत ही सराहनीय उभर कर आया है जिसे बघौना उच्च विद्यालय के विद्यार्थी तथा अभिभावक खुश है। 

बी के भारतीय से लगातार विद्यार्थी संपर्क करते रहे। निजी संस्थानों की तरह यंहा के भी विद्यार्थी उम्मीद किये पढ़ाई का व्यवस्था करने के लिए । बस क्या था! बी के भारतीय ने एक प्लेटफॉर्म तैयार किया। सबको गूगल मिट से जोड़ा। आज इसके परिणाम स्वरूप विद्यालय के अधिकांश विद्यार्थी निःशुल्क शिक्षण प्राप्त कर रहे है। 

उच्च विद्यालय के विद्यार्थी प्रिंस कुमार खुशी पांडेय सुनीता कुमारी प्रियंका कुमारी रिया पांडेय मुस्कान कुमारी इत्यादि ने खुशी जाहिर करते हुए बताया कि इसी प्रकार से यदि सभी शिक्षक विद्यार्थियों के बारे में प्रयास करे तो बिहार कभी किसी अन्य राज्य से पीछे नही रहेगा।

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image
सफेद दूब-
Image
शिव स्तुति
Image