नूर फातिमा खातून "नूरी"

लहरों को मोड़ देती हैं हवाएं,

किस्मत बदल देती हैं दुवाएं।


भूखे पेट भर खाना खिलाना,

प्यासे को ठंडा पानी पिलाना,

सड़क पे पेड़ छायेदार लगाना,

पक्षी को दाना बार-बार लगाना,


अपने आप टल जाती हैं बलाएं,

किस्मत बदल देती हैं दुवाएं।


मां का आंचल सर पे बना रहे

पिता का हाथ सर पे बना रहे

मुस्कान से दिल जीतना सीखो

मीठी बोली से मन में उतरना सीखो


हमारी माफ कर देती हैं खताएं

किस्मत बदल देती हैं दुवाएं।


नूर फातिमा खातून "नूरी"

( शिक्षिका)

जिला-कुशीनगर उत्तर प्रदेश

Popular posts
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
अंजु दास गीतांजलि की ---5 ग़ज़लें
Image
हार्दिक शुभकामनाएं
Image