हाइकु



अमृता पांडे

  फैला सन्नाटा

भयावह मंजर 

   शामोसहर। 


  ए मन मेरे

तू यूं हताश ना हो

   बांध हिम्मत। 


  थम जाएगी 

कोरोना की लहर 

   धीरज धर। 


   अमृता पांडे

हल्द्वानी  नैनीताल

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
डॉ.राधा वाल्मीकि को मिले तीन साहित्यिक सम्मान
Image