मौसम

निवेदिता रॉय

ज़िंदगी के रंग हज़ार 

गर्मी सर्दी बसंत बहार 

कुदरत की देन हैं ये रंग बदलते मौसम 

बदल जाती हैं हसरतें 

बदल जाते हैं किरदार 

कुदरत की देन हैं ये बदलते एहसास 


 उतार चढ़ाव की कहानी है ये ज़िंदगी 

समझौतों का रस है ये ज़िंदगी 

कुदरत की देन हैं ये बदलते स्वाद


निवेदिता रॉय (बहरीन)

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
डॉ.राधा वाल्मीकि को मिले तीन साहित्यिक सम्मान
Image