हर किसी के लिए दिल में प्यार हो

 


अमित कुमार बिजनौरी

सेवा धर्म मानवता कर्म किरदार हो ।

हर किसी के लिए दिल में प्यार हो ।।


तन की दूरी ठीक है जिंदगी के लिए

मन की दूरी ठीक नहीं ताजगी के लिए

चाहे बिषम स्थिति मगर एतबार हो

हर किसी के लिए दिल में प्यार हो ।।


दीन हीन का दिल , ना कभी  दुखाईए

भूखे को रोटी प्यासे को पानी पिलाईए

सेवा धर्म जीवन का यही आधार हो

हर किसी के लिए.....


सेवा में ही हित छिपा सर्व समाज का

सेवा में मिलता सुर जीवन के साज का

 सेवा धर्म "अमित" जीवन में सत्कार हो 

हर किसी के लिए........


@अमित कुमार बिजनौरी

स्योहारा बिजनौर

उत्तर प्रदेश

भारत

Popular posts
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
हँस कर विदा मुझे करना
Image
अंजु दास गीतांजलि की ---5 ग़ज़लें
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं यमुनानगर हरियाणा से कवियत्री सीमा कौशल
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image