हर किसी के लिए दिल में प्यार हो

 


अमित कुमार बिजनौरी

सेवा धर्म मानवता कर्म किरदार हो ।

हर किसी के लिए दिल में प्यार हो ।।


तन की दूरी ठीक है जिंदगी के लिए

मन की दूरी ठीक नहीं ताजगी के लिए

चाहे बिषम स्थिति मगर एतबार हो

हर किसी के लिए दिल में प्यार हो ।।


दीन हीन का दिल , ना कभी  दुखाईए

भूखे को रोटी प्यासे को पानी पिलाईए

सेवा धर्म जीवन का यही आधार हो

हर किसी के लिए.....


सेवा में ही हित छिपा सर्व समाज का

सेवा में मिलता सुर जीवन के साज का

 सेवा धर्म "अमित" जीवन में सत्कार हो 

हर किसी के लिए........


@अमित कुमार बिजनौरी

स्योहारा बिजनौर

उत्तर प्रदेश

भारत

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
भगवान परशुराम की आरती
Image
पुराने-फटे कपड़े से डिजाइनदार पैरदान
Image