जिन्दगी दाँव पे लगाया

 

सरिता त्रिपाठी

बीमारी हजारों ले लायी

आर वो चलन में आयी

घड़े का मीठा वो पानी

दूर रखता था दवाई


दौर विज्ञान का आया

जिन्दगी दाँव पे लगाया

नहीं अच्छा नहीं सच्चा

दुनिया को आजमाया

©®सरिता त्रिपाठी

लखनऊ, उत्तर प्रदेश

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
साहित्यिक परिचय : श्याम कुँवर भारती
Image
क्षितिज के उस पार •••(कविता)
Image
मर्यादा पुरुषोत्तम राम  (दोहे)
Image