हमसफ़र

अतुल पाठक "धैर्य" 

भीड़ भरी दुनिया में,

कई आते और जाते हैं।

मिलकर बिछड़ जाते हैं,

ज़िन्दगी के सफ़र में 

हमसफर ही साथ निभाते हैं।

दिल-ओ-जाँ में बसते,

सुख-दुःख बाँटते हैं।

खुशी हो या ग़म सदा मुस्कुराते,

आए लाख विपत्ति जीवन में

फिर भी मिलकर सामना करते हैं।

अपने प्यार के रंगों से,

जीवन को सजाते हैं।

हवा के झोंके संग गुनगुनाते हैं,

जब एहसासों की खुशबू से 

हमसफ़र भी महक जाते हैं।

मोहब्बत कुदरत का इक हसीन तोहफ़ा है,

जिनके दिल में मोहब्बत होती है

वो ही दिलवाले कहलाते हैं।


रचनाकार-अतुल पाठक "धैर्य" 

पता-जनपद हाथरस(उत्तर प्रदेश)

Popular posts
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
अंजु दास गीतांजलि की ---5 ग़ज़लें
Image
सफेद दूब-
Image
नारी शक्ति का हुआ सम्मान....भाजपा जिला अध्यक्ष
Image