बाल कविता..

 समीर द्विवेदी नितान्त

अच्छा खाओ अच्छा पहनो ।।

मीठे स्वर में सबसे वोलो ।।

अच्छी अच्छी बात करो तुम ।

अच्छों का ही साथ करो तुम ।।


अच्छी अच्छी पुस्तक पढकर ।

अच्छे लोगों जैसा बनकर ।।

अपना स्वस्थ समाज बनाओ ।

बच्चों देश का मान बढाओ ।।

समीर द्विवेदी नितान्त

कन्नौज..उत्तर प्रदेश

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
ठाकुर  की रखैल
Image
जीवीआईसी खुटहन के पूर्व प्रबंधक सह पूर्व जिला परिषद सदस्य का निधन
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
पीहू को जन्मदिन की हार्दिक शुभकामनाएं
Image