नूर फातिमा खातून "नूरी"

परेशानी में दुनिया सारी है,

कोरोना तो सब पे भारी है।

भूत ,चुड़ैल का जिक्र नहीं,

डायन का भी फ़िक्र नहीं,

चोर,डाकू का का पता नहीं,

जादू -टोना भी लगता नहीं,


बस एक ही तो दुश्वारी है,

कोरोना तो सब पे भारी है।


ना प्यार का लफड़ा है,

ना सास -बहू का झगड़ा है,

पड़ोसी से झगड़ा कमजोर हुआ,

आदमी घर में बोर हुआ,


लाक डाउन में बड़ी बेकारी है,

कोरोना तो सब पे भारी है।


नूर फातिमा खातून "नूरी"

 (शिक्षिका) 

जिला-कुशीनगर

उत्तर प्रदेश

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
सफेद दूब-
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
मतभेद
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image