नरेन्द्र मोदी

राजेश प्रजापति
जब दिल्ली के सिंहासन पर 

जब कोई विदेशी आएगा 

लूट मचेगी चारो तरफ 

 हा हा कार मच जाएगा।


 होगा घरो से निकलना धूमिल 

तब कौन तुमे अधिकार दिलाएगा 

जब आओगे संकट मे लोगो 

तब याद मोदी आएग ।


तब याद मोदी आएगा 


विपक्षीयो के बहकावे मे 

तुम गाली मुझको देते हो

एक बार उनसे भी पूछो  

यह देश क्या उनका नही है।


संकट मे है देश पूरा 

विपक्षी रैली लेकर आए हैं

रोता है अन्दर से अन्तर मेरा 

मैने अपने,पन्द्रहा विधायक गबाए है।


कोरोना की महामारी मे 

मैने पूरा देश बचाया है 

कुछ गद्दारो ने मिल करके 

फिर भी भुझ पर आरोप लगाया है।


नही पता है वंश का जिनके 

वो क्या देश का वंश बचाएगे 

प्रति सोध की अग्नि मे 

बस भारत को जलाएगे। 


मुझको है प्रिय देश मेरा

 मै इसको न झुकने दूंगा 

मै भले ही मिट जाऊंगा 

पर देश को न मिटने दूंगा।


तब तक सुरक्षित है भारत माता 

जब तक सिंहासन पर मोदी है 

काँप उठता है शत्रु का सीना 

जब चर्चा मोदी की होती है ।

जब चर्चा मोदी की होती है ।

राजेश प्रजापति (बरेली)

मो 7500700862

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
ठाकुर  की रखैल
Image
जीवीआईसी खुटहन के पूर्व प्रबंधक सह पूर्व जिला परिषद सदस्य का निधन
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
साहित्यिक परिचय : श्याम कुँवर भारती
Image