जिम्मेदार कौन

नीलम राकेश 

 अपने आलीशान बंगले के एयरकंडीशन कमरे के कीमती पलंग पर औंधे मुंह पड़ी वह] रो-रो कर निढाल हो चुकी थी । समझ नहीं पा रही थी कि ऐसी क्या कमी हो गई कि हर सुख सुविधा से भरे इस घर का सबसे छोटा बेटा मारूती कार चुराने लगा । उनका लाडला जेल की सीकचों के पीछे बन्द है यह ख्याल ही उन्हें बेचैन किये हुये था ।

आराम कुर्सी पर निढाल पड़े पति की ठंडी सांस ने उनका ध्यान आकर्षित किया ।

‘‘‘‘विपिन के इस पतन के लिये हम जिम्मेदार हैं रूपा ।’’

‘‘‘‘हम ?..................... अरे क्या कह रहे हो तुम \ उठ कर पलंग पर बैठ गयी वह ।

‘‘‘‘याद है विपिन छोटा था जब उसकी टीचर ने हमें बुलाकर बताया था कि विपिन दूसरे बच्चों की कलम] रबर आदि चीजें चुरा लेता है । कभी-कभी मार-पीट कर छीन भी लेता है । और हम दोनों कितनी बुरी तरह उस टीचर पर ही बिगड़ गये थे । यहां तक कि उसकी शिकायत प्रिंसीपल से भी कर दी थी।’’ अतीत को खुली आंॅखों से देखते हुये विपिन के पिता बोल रहे थे ।

‘‘‘‘हां] याद है । लेकिन तब विपिन बहुत छोटा बच्चा था । चोरी-चकारी का अर्थ जानता भी नहीं था । उस उम्र में बच्चे ऐसी हरकतें करते ही हैं ।’’ रूपा ने बेटे का पक्ष लिया ।

‘‘‘‘हां] करते हैं लेकिन बड़े उन्हें सही रास्ता दिखाते हैं ।...............जो तुम आज कर रही हो वही गलती हमने उस समय भी की थी । काश । हमने टीचर की बात पर ध्यान दिया होता] तो आज हम इस दुख का सामना नहीं कर रहे होते ।’’

फटी-फटी आंखों से रूपा पति को देखती रह गई सच का सामना करने की हिम्मत उसमें नहीं थी ।


( नीलम राकेश )

610/60, केशव नगर कालोनी

सीतापुर रोड, लखनऊ 

उत्तर-प्रदेश-226020,              

दूरभाष नम्बर : 8400477299

neelamrakeshchandra@gmail.com

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
सफेद दूब-
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
क्योंकि मैं बेटी थी
Image