मन के कागज पर



आलिया खान

मन के कागज पर नाम तेरा लिख दूँगी l

दिल क्या रूह को भी तेरे नाम कर दूँगी ll


जो बिखर गए थे एहसास उन को तेरे साथ जी लुंगी l

सासों की माला पे पिया तेरा सिमरन मे भी कर लुंगी ll


आँखो मे बसा कर तेरी मनमोहिनी मूरत को बंद मे कर लुंगी l

तुझे मोहब्बत की बेड़ियों मे आज मै भी जकड़ लुंगी ll


तेरा मेरा साथ यही तक नहीं ये तो अनंत से अंनत तक का है l

आये कैसी भी बिरहा मै तो मन को अपने तेरे ही रंग मै रंग लुंगी ll

.......

Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
ठाकुर  की रखैल
Image
जीवीआईसी खुटहन के पूर्व प्रबंधक सह पूर्व जिला परिषद सदस्य का निधन
Image
प्रेरक प्रसंग : मानवता का गुण
Image
साहित्यिक परिचय : श्याम कुँवर भारती
Image