जीवन पथ

शरद कुमार पाठक

गर जीवन के पथ

चलना है 

तो सुदृढ़ पथ

चुनना होगा


भरी जिंदगी संघर्षों से

आगे तुमको बढ़ना होगा

गर शूलों का पथ मिले तुम्हें

उसको भी गहना होगा

क्या सुख के पल

क्या दु:ख के छण

वो भी तुमको सहना होगा

जीवन के चुभते शूलों में

फूलों सा मुस्कुराना होगा

प्रयत्नवान कर्मों का

अनुयायी बनना होगा

उद्वेग- प्रवाहित सरिता सा

वेगों में तुमको बहना होगा

भरी जिंदगी संघर्षों से

आगे तुमको बढ़ना होगा

गर जीवन के पथ चलना है

तो सुदृढ़ पथ चुनना होगा


           शरद कुमार पाठक

डिस्टिक------(हरदोई)

Popular posts
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं यमुनानगर हरियाणा से कवियत्री सीमा कौशल
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं लखीमपुर से कवि गोविंद कुमार गुप्ता
Image
दि ग्राम टुडे न्यूज पोर्टल पर लाइव हैं अनिल कुमार दुबे "अंशु"
Image
पापा की यादें
Image