इंटरनेशनल नर्सेज डे 12 मई

सोनिया

देश प्रथम एवम् कर्तव्य प्रथम समझ कर लगातार जिस तरह वैश्विक महामारी कॉरोना कोविड-19 ने अपना पांव पासार रहा है ।इसमें पूरे विश्व की सभी नर्सेज एवं डॉक्टरों की भूमिका बहुत ही महत्वपूर्ण है हम सभी देशवसियों को चाहिए कि इस मुश्किल घड़ी में नर्स एवम् डॉक्टर अपने परिवार को छोड़ कर हम सभी के परिवार को बचाने के लिए देश भक्त के तरह अपना कर्तव्य को पहले देश भक्ति समझ कर अपने जान एवम् परिवार की परवाह किये बिना देशभक्ति का जुनून लिए अपने कर्तव्यों को लगातार निभा रही है।

कारोना महामारी के प्रथम चरण में जहां स्थिति गंभीर सेभयावह हुई।

 वही अब यह लड़ाई युद्ध स्तर तक जा पहुंची है।जिस तरह हमारे देश की खाकी वर्दी सेवा करती हैं 

आज देश की सेवा सफेद वर्दी कर रही हैं।

हमारे देश के सभी स्वास्थ कर्मी कोरोना योद्धा बन चुके है ।इसमें नर्सों का योगदान अतुलनीय है। मौजूदा दौर में कोरॉना संक्रमण से लड़ने में विश्व भर की नर्सों ने बढ़ चढ़कर अपनी आहुती भी दी है । जीवन जीने के लिए खाने और पीने के अतरिक्त जो सबसे ज्यादा आवश्यक वस्तु है वह उम्मीद। अगर जीने की उम्मीद ही ना बचे तो जीवन व्यर्थ सा महसूस होता है। नर्से ना केवल हिम्मत हार चुके व्यक्ति की उम्मीद बढ़ाते हैं बल्कि उसमें हिम्मत का संचार भी करती हैं । 

जहां डॉक्टर मरीज को उचित दवा तो लिख देते हैं पर सही प्रक्रिया का पालन करते हुए मरीज को दवा देना महत्वपूर्ण जिम्मेदारी है। यह हमारे देश की नर्स ही होती है जो मरीज के पास सबसे ज्यादा समय बिताती है इस वैश्विक महामारी कोरोनावायरस कोविड-19 काल में नर्स कई बार चिकित्सक की पूरक के रूप में नजर आती हैं। इनके हौसला अफजाई करने के लिए सभी देश वासियों को आगे आना चाहिए।

Popular posts
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image
गीता सार
भिण्ड में रेत माफियाओं के सहारे चुनाव जीतने की उम्मीद ?
Image
सफलता क्या है ?
Image