पंडित गोविंद वल्लभ पंत बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे : डा. घनश्याम गुप्ता

 



खानपुर ( हरिद्वार ) । नेशनल कन्या इण्टर कालेज खानपुर में भारत रत्न पंडित गोविन्द बल्लभ जयंती मनाई गई ।  इस अवसर पर उन्हें श्रद्ध सुमन अर्पित करते हुये नेशनल कन्या इण्टर कालेज खानपुर के प्रधानाचार्य डाॅ0 घनश्याम गुप्ता ने कहा कि वह बहुआयामी व्यक्तित्व के धनी थे जिन्हे आज भी उत्तर भारत के निर्माता के रूप में याद किया जाता है। 


 प्रधानाचार्य डाॅ0 घनश्याम गुप्ता ने कहा कि पंडित गोविन्द बल्लभ पंत ऐसे स्वतंत्रता सेनानी थे जिन्होंने देश को अंगे्रजों से आजाद कराने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा की। स्वतंत्र भारत के उत्तर प्रदेश राज्य के पहले मुख्यमंत्री रहते हुये पंडित गोविन्द बल्लभ पंत चाय-नाश्ते का पैसा भी अपनी जेब से भरते थे। राष्ट्रीय सेवा योजना इकाई के कार्यक्रम अधिकारी बलराम गुप्ता ने कहा कि 1920 में उन्होंने रोलेट एक्ट के विरोध में असहयोग आन्दोलन के लिये वकालत छोड दी थी। उन्होंने कहा कि हिन्दी को भारत की राज्य भाषा चुनकर हिन्दी का मान बढाने का कार्य भी पंडित जी ने ही किया था।


 इस अवसर पर कोविड-19 की अवधि में स्वयं सेवियों के माध्यम से जागरूकता फैलाने तथा आनॅलाइन शिक्षण से वंचित राजकीय प्राथमिक विधालयों के छात्रों को ‘‘ मेरा घर मेरा विधालय ’’ के अन्तर्गत उल्लेखनीय कार्य करने के लिये राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम अधिकारी बलराम गुप्ता को कोरोना योद्धा के रूप में प्रशस्ति पत्र देकर व शाॅल ओढाकर सम्मानित किया गया।


 कार्यक्रम में मदनपाल सिंह, अरविन्द्र पंवार, सुरेशचन्द कवटियाल, अमित गर्ग, विशाल भाटी, वृजपाल, अशोक कुमार, संजय भी उपस्थित रहे।


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
आपका जन्म किस गण में हुआ है और आपके पास कौनसी शक्तियां मौजूद हैं
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
साहित्यिक परिचय : नीलम राकेश
Image