गुरु देव को नमन



नित हर पल तुम्हें शीश नवाऊं
एक गुरु पूर्णिमा देव कैसे मनाऊं

सुबह तेरा नाम है शाम तेरा नाम है
मेरे हर काम को तुझसे ही काम है
हर क्षण आशीष तुम्हारा ही पाऊं 
एक गुरु पूर्णिमा देव कैसे मनाऊं ...🌻

गुरु के वचनों पे यदि है मुझे विश्वास
आएगी ही सुख और सिद्धि मेरे पास 
गुरु से लौ हर क्षण ही लगाऊं 
एक गुरु पूर्णिमा देव कैसे मनाऊं...🌻

वे ही मेरे रखवाले ,जीवनज्योति दिखाने वाले
मेरे जीवन की नौका ,रहती सदा उनके हवाले उन बिन एक पग भी ना बढ़ाऊं
एक गुरु पूर्णिमा देव कैसे मनाऊं...🌻

🌻स्वरचित : सुनीता द्विवेदी 🌻
🌻कानपुर उत्तरप्रदेश🌻
🌻०२/०७/२०२०🌻


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
आपका जन्म किस गण में हुआ है और आपके पास कौनसी शक्तियां मौजूद हैं
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
साहित्यिक परिचय : नीलम राकेश
Image