करत रह अपना बाबू माई के सेवा

 



सोंच जन की मिशरी मिली कि मेवा ,
करत रह अपना बाबू माई के सेवा ।


इहे हउवें ब्रह्म विष्णु इहे शंकर देवा ,
जाड़े में ओढ़वली माई अपनो देंह के लेवा ।।


       सोंच जन की मिशरी मिली कि मेवा,
        करत रह अपना बाबू माई के सेवा ।


भींजल तातल रुखल सुखल ,
अपने खइले होइहें ।


बबुआ खातिर चूल्हा फूंक के 
टटका रोटी भात बनवले होइहें ।।


       सोंच जन की मिशरी मिली कि मेवा,
        करत रह अपना बाबू माई के सेवा ।


गरभ में माई अपना खून से सिंचले होइहें,
लाल पर ना आंच आवे राह फूंक के चलल होइहें।


बाबू जी स्कूले घूम-२के निमन चुनले होइहें ,
हाँथ धराके ABCDलिखे के सिखवले होइहें ।।
       
        सोंच जन की मिशरी मिली कि मेवा,
        करत रह अपना बाबू माई के सेवा ।


इनका चरनन में बा चारो धाम ,
कबो तनी दबा के देख ।


महके लगब दुनिया में खूब ,
कबो अइसनो इतर लगा कि देख ।।


       सोंच जन की मिशरी मिली कि मेवा,
       करत रह अपना बाबू माई के सेवा ।


ई थाती हउवें घर के जोगा के रखिह ,
करे के पुरनियन के सेवा अउरी लो से कहिह।


       सोंच जन की मिशरी मिली कि मेवा ,
       करत रह अपना बाबू माई के सेवा ।


कहे #शैलेन्द्र शीश नवाई अभिमान ना करिह ,
अपना बाबू माई के सेवा मन लगा के करिह ।।


        सोंच जन की मिशरी मिली कि मेवा,
        करत रह अपना बाबू माई के सेवा ।


 


शैलेन्द्र कुमार तिवारी 
सिंगरवा अहमदाबाद 
गुजरात 382430


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image