बोले पीएम मोदी, सशक्त भारत के निर्माण में होगी प्रत्येक दिव्यांग की भूमिका

 



प्रयागराज।  दिव्यांगजन और वृद्धजन उपकरण वितरण समारोह में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा कि भाजपा की सरकार ने ही दिव्यांगों के दुख को समझने का कार्य किया है। सशक्त भारत के निर्माण में प्रत्येक दिव्यांग की भूमिका होगी। दिव्यांगों का जीवन देखकर आगे बढ़ने की प्रेरणा मिलती है। पीएम ने कहा कि प्रयागराज इंसाफ की भी नगरी हैं। प्रत्येक रोज यहां पर हजारों हजार लोग न्याय की आस में आते हैं। उन्होंने कहा कि यह कुंभ की नगरी है। पिछले वर्ष के कुंभ की याद ताजा करते हुए कहा कि मुझे सफाईकर्मियों का चरण धोने का सौभाग्य प्राप्त हुआ। दिव्यांगजनों को उपकरण वितरण के बाद पीएम ने कहा कि यह उपकरण तो मात्र सहायक हैं। असली शक्ति तो दिव्यांगों का उनका धैर्य है जो उन्हें हर पल जूझने और आगे बढ़ने के लिए प्रेरित कर रहा है।पीएम मोदी ने परेड मैदान में आयोजित दिव्यांगजन कुंभ कार्यक्रम में कहा कि उन्हें दिव्यांगों और वृद्धजनों की सेवा का अवसर मिला है। किसी को ट्राई साइकिल, किसी को सुनने की मशीन मिली है। उपकरण तो सिर्फ सहयोगी है।  असली शक्ति तो आपका धैर्य है। आपने मुश्किलों का सामना किया है। आपके जीवन से मुझे प्रेरणा मिलती है।उन्होंने कहा कि सरकार का यह दायित्व है कि सबका भला हो और सबको न्याय मिले। यही मंत्र सबका साथ  और सबका विकास का है। सरकार सबका जीवन आसान बनाने का कार्य कर रही है।130 करोड़ भारतीयों की सेवा करना हमारी प्राथमिकता है। दिव्यांगों का दुख इस सरकार ने समझा है। इसके पहले इतना ध्यान कभी नहीं दिया गया।हमारी सरकार ने आपका साथी बनकर आपकी दिक्कतों को समझने का प्रयास किया है। बीते पांच साल में अलग-अलग इलाकों में अलग-अलग कैंप लगाए गए जिसमें दिव्यांगजनों को 380 करोड़ से भी के उपकरण बांटे गए। इसके विपरीत भाजपा की सरकार ने अब तक 900 करोड़ रुपये से ज्यादा का उपकरण बांट चुकी है और यह क्रम लगातार जारी है। पिछली सरकार की तुलना में भाजपा की सरकार ने ढ़ाई गुना से ज्यादा धनराशि विकलांगों के कल्याण के लिए खर्च कर चुकी है।उन्होंने कहा कि दिव्यांगों का कल्याण तभी किया  जा सकता है जब दिव्यांगों के प्रति संवेदना हो। जब एक भारत श्रेष्ठ भारत को और मजबूत करने की कल्पना हो तब जाकर ऐसा होता है। आने वाले समय में प्रयागराज का कोई दिव्यांग चेन्नई या कहीं दूसरे राज्य में जाएगा तो उसे भाषा की दिक्कत नहीं होगी। नोट को भी दिव्यांगों के अनुकूल बनाया गया है। सिक्कों को भी इसी तरह ढाला जा रहा है कि वह छूकर पहचान सकें कि कितने का सिक्का है। मोदी ने प्राइवेट चैनलों के प्रति आभार जताया  जो दिव्यांगों के लिए साइनेज के द्वारा महत्वपूर्ण कार्य कर रहे हैं। दूरदर्शन विशेष रूप से बधाई का पात्र है।दिव्यांगों पर अत्याचार अब बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। इसके लिए कानूनों को सख्त किया गया है। कोई दिव्यांगों का उत्पीड़न करता है, परेशान करता है या उनका मजाक उड़ाता है तो उसके खिलाफ सख्त कार्रवाई का प्रावधान हमारी सरकार ने किया है। मोदी ने कहा कि सरकारी नौकरी में दिव्यांगों के आरक्षण की सीमा तीन प्रतिशत से बढ़ाकर चार कर दिया गया है। उच्च शिक्षा में भी तीन से बढ़ाकर पांच किया गया है। सरकार ने दो लाख दिव्यांगों को स्किल ट्रेनिंग दी है। अब पांच लाख दिव्यांगों के ट्रेनिंग का लक्ष्य है। नए भारत में हर दिव्यांग की सहभागिता सुनिश्चत की जाएगी। उन्होंने अपनी सरकार की कई योजनाओं का गुणगान किया। कहा कि 60 वर्ष की आयु के बाद आपको एक निश्चित  धनराशि मिले और आपका बचत भी सुरक्षित रहे इसके लिए प्रधानमंत्री वयोवृद्ध योजना की शुरुआत की गई है।


Popular posts
अस्त ग्रह बुरा नहीं और वक्री ग्रह उल्टा नहीं : ज्योतिष में वक्री व अस्त ग्रहों के प्रभाव को समझें
Image
गाई के गोवरे महादेव अंगना।लिपाई गजमोती आहो महादेव चौंका पुराई .....
Image
परिणय दिवस की हार्दिक शुभकामनाएं
Image
सफेद दूब-
Image
भोजपुरी भाषा अउर साहित्य के मनीषि बिमलेन्दु पाण्डेय जी के जन्मदिन के बहुते बधाई अउर शुभकामना
Image